अमोघ है हनुमान शाबर मंत्र

#बन्दूक की गोली से भी तीव्र प्रभाव करने वाले #अचुक  मंत्र से कार्य तो होता है #परंतु जिनके जीवन मे कोई गुरू ना हो तो उनके लिये मंत्र का कोई असर नही होगा#हनुमान जी से अपने मन की  बात कहने का सिद्ध मंत्र # Execlusive Presents by : www.himalayauk.org (Leading Digital Newsportal)  

हनुमानजी , भगवान शिव का अवतार हैं. भगवान हनुमान के रूप में तेजी है जैसी तेजी हमारे मन में होती है क्यूंकि उनकी गति वायु देव की तरह हैं. भगवान हनुमान का अपनी इन्द्रियों पर पूरा नियंत्रण है जैसे वायु देव का. भगवान हनुमान बंदरों की सेना के महानायक हैं. वे भगवान राम के दूत के रूप में विख्यात हैं. वे अतुलनीय शक्ति का भंडार है. वे राक्षसों की ताकतों का नाश करते है और सभी खतरों से मुक्त करवाते हैं. शाबर हनुमान मंत्र दुश्मनों के द्वारा फैलाई गयी नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने की क्षमता रखता है. 
मंत्रों की महत्ता के बारे में तो आप जानते ही हैं. हर बिगड़े काम को बनाने के लिए मंत्र मौजूद हैं. बस आपको उनका सही उच्चारण करना आना चाहिए. आज हम आपको ‘हनुमान शाबर मंत्र’ के बारे में बता रहे हैं.  हनुमान शाबर मंत्र क्या हैं? उसकी महत्ता क्या है और उनका उच्चारण कैसे किया जाता है? 
शाबर मंत्र अत्यधिक शक्तिशाली होते है और बहुत जल्द ही परिणाम लाते हैं. ऐसा माना जाता है की शाबर मंत्र गुरु गोरखनाथ जी और नवनाथ चौरासी सिद्धों ने लिखे थे. यह मंत्र आमतौर पर ग्रामीण भारतीय भाषाओं में हैं. हालांकि ये मंत्र हिंदू धर्म में ही नहीं बल्कि इस्लाम में और अन्य धर्मों में भी हैं. लेकिन ये बात भी सच है कि इन मंत्रों को सबसे पहले गुरु गोरखनाथ जी ने लिखा था.
हनुमान शाबर मंत्र एक तरह का वशीकरण मंत्र होता है. शाबर मंत्रों से किसी भी व्यक्ति को उन्हें उपयोग में लेने से पहले सिद्धि हासिल करने के जरुरत नहीं होती है क्योंकि वे पहले से ही सिद्ध मंत्र हैं. सभी शाबर वशीकरण मंत्र अपने सपनों को पूरा करने के लिए या किसी उद्देश्य को पूर्ण करने के लिए सीधे किसी पर नियंत्रण रखने के उपयोग में लाये जाते हैं. शाबर वशीकरण मंत्र विशेषज्ञ अपनी इच्छा के अनुसार आप के लिए शाबर मंत्र प्रदान कर सकता है. इतना ही नहीं, शाबर वशीकरण मंत्र विशेषज्ञ शाबर मंत्रों का उपयोग करने और उनका सही तरह से उच्चारण करने का दिशा-निर्देश भी देते हैं. हनुमान मंत्र और शाबर मंत्र, दोनों का ही प्रयोग वशीकरण के लिए किया जाता हैं. हनुमान मंत्र और शाबर मंत्र दोनों ही बहुत शक्तिशाली है. दोनों मंत्रों में केवल एक ही अंतर है, कि हनुमान मंत्र साधने के लिए सिद्धि‍ करना जरुरी है पर शाबर वशीकरण मंत्र के लिए सिद्धि‍ करना जरुरी नहीं हैं. हनुमान मंत्र और शाबर वशीकरण मंत्र में एक समानता भी है कि दोनों ही वशीकरण मंत्र विशेषज्ञ द्वारा दिशा-निर्देश दिए जाने के बाद ही सही तरह से उपयोग में लाए जा सकते हैं. वशीकरण मंत्र विशेषज्ञ मंत्र बताने के साथ-साथ हमें उससे सही तरीके से इस्तेमाल करने के निर्देश भी देते हैं.—- हनुमान मंत्र और शाबर वशीकरण मंत्र किसी और के ऊपर नियंत्रण रखने के लिए तभी सिद्ध किये जा सकते हैं जब इनका सही ढंग से इस्तेमाल किया जाए.
हनुमान शाबर मंत्र का जाप करने के लिए काला कपड़ा पहनकर शुक्रवार से शुरुआत होती है. इस मंत्र की माला और उस माला का 5 बार जाप करें लगातार 5 दिन तक. साधना के अंत में भगवान हनुमान की पूजा और माला के लिए एक गढ्ढा खोदें और जमीन में ये माला डाल दें.
हनुमान जाग.—- किलकारी मार.—- तू हुंकारे.—- राम काज सँवारे.—- ओढ़ सिंदूर सीता मैया का.—- तू प्रहरी राम द्वारे.—- मैं बुलाऊँ , तु अब आ.—- राम गीत तु गाता आ.—- नहीं आये तो हनुमाना.—- श्री राम जी ओर सीता मैया कि दुहाई.—- शब्द साँचा.—- पिंड कांचा.—- फुरो मन्त्र ईश्वरोवाचा.—-

हनुमान जी से अपने मन की  बात कहने का सिद्ध मंत्र ।

मनुष्य शारीरिक, मानसिक और बाहरी (भू‍त-प्रेत) नजर इत्यादि बीमारियों से परेशान रहता है। शारीरिक बीमारी के लिए डॉक्टर या वैद्य के पास जाकर मनुष्य ठ‍ीक हो जाता है। मानसिक बीमारी का सरलत‍म उपाय हो जाता है। परंतु मनुष्य जब भूत-प्रेत अथवा नजर, हाय या किसी दुष्ट आत्मा के जाल में फंस जाता है, तब वह परेशान हो जाता है। हनुमान जी का शाबर मंत्र अत्यंत ही सिद्ध मंत्र है। इसके प्रयोग से हनुमान जी तुरंत ही आपके मन की बात सुन लेते हैं। इसका प्रयोग तभी करें जबकि यह सुनिश्चित हो कि आप पवित्र व्यक्ति हैं। यह मंत्र आपके जीवन के सभी संकटों और कष्टों को तुरंत ही चमत्कारिक रूप से समाप्त करने की क्षमता रखता है।

शाबर मंत्र :-
ॐ नमो बजर का कोठा,
जिस पर पिंड हमारा पेठा।
ईश्वर कुंजी ब्रह्म का ताला,
हमारे आठो आमो का जती
हनुमंत रखवाला।

।। जय हनुमान ।।

वशीकरण प्रयोग अत्याधिक महत्वपूर्ण है, इसे तंत्र के द्वारा और मंत्र के द्वारा भी सम्पन्न किया जाता है, यो तो तंत्र मंत्र के
ग्रन्थो मे वशीकरण से सम्बन्धित सैकडो प्रयोग है, लेकिन नाथ सांप्रदाय के पास जो वशीकरण प्रयोग है वे बन्दूक की गोली से भी तीव्र प्रभाव करने वाले और अचुक होते है , प्रयोग करते ही उसका परिणाम प्रप्त हो जाता है.
शुक्रवार की रात 9 बजे हनुमान मंदिर जाकर हनुमान जी के चरणो मे सुखा हुआ सिंदूर चढाये और एक नारियल रख कर अपने दिल की भावनाये हनुमान जी को बताये.दूसरे दिन शनिवार रात ठिक उसी हनुमान मंदिर जाकर जहा आपने सिंदूर चढाया था वही का कोई भी सिंदूर उठाकर अपने घर ले आये.इस क्रिया मे किसी भी व्यक्ति का रोक-टोक नही होना चाहिये अब घर आने के बाद लाल कपडे पर हनुमान जी का चित्र स्थापित करे और हनुमान चालिसा का एक पाठ करे ताकी हनुमत कृपा प्राप्त हो
हनुमान मोहिनी मंत्र:-
ll ओम नमो महावीर,हनुमन्त वीर l धाय-धाय चलो,अपनी मोहिनी चलाओ,अमुक के नैन बाँध,मन बाँध,काया बाँध,घर बाँध,द्वार बाँध मेरे लिये,ना बाँधे तो मेरी आण-मेरे गुरू की आण,छु वाचापुरी ll

मंत्र से कार्य तो होता है परंतु जिनके जीवन मे कोई गुरू ना हो तो उनके लिये मंत्र का कोई असर नही होगा

हिमालय गौरव उत्‍तराखण्‍ड 

वेब तथा प्रिन्‍ट मीडिया- देहरादून तथा हरिद्वार से प्रकाशित – 

mob,. 9412932030 mail; csjoshi_editor@yahoo.in 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *