गुपचुप तरीके से कांग्रेस ज्वाइन की- सवाल उठे

हाईकमान के घर गये, माला पहन कर आ गये- इसको लेकर काफी सवाल उठाए जा रहे
सिद्धू ने बडे ही गुपचुप तरीके से कांग्रेस ज्वाइन की है। इसको लेकर भी काफी सवाल उठाए जा रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए। वह कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने पहुंचे। उनकी मौजूदगी में ही सिद्धू कांग्रेस में शामिल हुए। पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले पूर्व भाजपा सांसद नवजोत सिंह सिद्धू ने आखिरकार रविवार को कांग्रेस का हाथ थाम लिया। दिल्ली में पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी के घर पर सिद्धू कांग्रेस में शामिल हुए। सिद्धू अमृतसर ईस्ट सीट से चुनाव लड सकते हैं। राज्य में फरवरी के प्रारंभ में विधानसभा चुनाव होने हैं। क्रिकेटर से नेता बने सिद्धू बीजेपी से राज्यसभा सांसद थे, लेकिन पिछले साल १८ जुलाई को इस्तीफा दे दिया। सितंबर में पार्टी भी छोड दी थी। बीजेपी से अलग होकर सिद्धू ने परगट और बैंस बंधुओं (बलविंदर बैंस और सिमरजीत बैंस) के साथ मिलकर आवाज-ए-पंजाब मोर्चा बनाया था। इसके कुछ दिन बाद ही आवाज-ए-पंजाब ने सिद्धू का साथ छोडकर आम आदमी पार्टी से गठजोड कर लिया। आप से बात नहीं बन पाने पर सिद्धू ने कहा था, ‘केजरीवाल मुझे एक और शोपीस बनाना चाहते थे। उन्होंने मुझे चुनाव नहीं लडने और सिर्फ पार्टी के लिए पचार करने के लिए कहा। मेरी पत्नी को मंत्री बनाने का वादा जरूर किया था। तब आप संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि सिद्धू ने पंजाब के सीएम बनने की शर्त रखी है। ५३ वर्षीय नवजोत सिंह सिद्धू एक अच्छे वक्ता हैं. सिद्धू का कांग्रेस में शामिल होना पार्टी के लिए काफी पॉजिटिव है। पंजाब में आप, अकाली दल और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला माना जा रहा है। ऐसे में सिद्धू का कांग्रेस में शामिल होना दोनों के लिए चिंता बढा सकता है। पूर्व क्रिकेटर २००४ से २०१४ तक अमृतसर से लोकसभा सांसद रहे हैं. २०१४ में सिद्धू की जगह अरुण जेटली ने अमृतसर से चुनाव लडा था. जिसमें उन्हें हार का सामना करना पडा था।
सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर पिछले नवंबर में कांग्रेस में शामिल हुई थीं, जिसके बाद यह अटकलें लगाई जा रही थी कि वे भी कांग्रेस में शामिल होंगे. पार्टी प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मुलाकात के बाद नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस में शामिल हो गए। इससे पहले सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर अलावा परगट सिंह भी पार्टी में शामिल हो चुके हैं।
इससे पहले ऐसी अटकलें लगाई जा रही थी कि सिद्धू दंपति आम आदमी पार्टी में शामिल हो सकते हैं, लेकिन आप नेतृत्व के साथ उनकी वार्ता विफल हो गई. क्रिकेटर से नेता बने नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होने की संभावनाएं काफी ज्यादा थी। यह संभावनाएं बीते ७ दिसंबर को ज्यादा प्रबल दिखीं, जब पंजाब कांग्रेस के प्रमुख अमरिंदर सिंह ने घोषणा की कि उनकी भाजपा के पूर्व सांसद से मुलाकात हुई है और वह पार्टी को समर्थन देने के इच्छुक हैं।

http://himalayauk.org/ (Hindi Newsportal) 

http://himalayauk.in/  (English Portal) ;

HIMALAYA GAURAV UTTRAKHAND (Daily) 

CS JOSHI –Editor (mail; csjoshi_editor@yahoo.in) mob 9412932030

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *